किन किन पानियों से वजू जायज़ है और किन पानियों से वजू जायज़ नहीं : जानिए और शेयर करें.

By | June 17, 2017
किन किन पानियों से वजू जायज़ है और किन पानियों से वजू जायज़ नहीं : जानिए और शेयर करें.

किन किन पानियों से वजू जायज़ है : बारिश,  नदी , नाले , चश्मे , कूएं , तालाब , समंदर , बर्फ़ , ओले , के पानियों से वजू और गूस्ल करना जायज़ है . बसर्त यह सब पानी साफ़ हों. |

किन किन पानियों से वजू जायज़ नहीं : – फूलों और  दरख्तों का निचोड़ा हुवा पानी – या वह पानी जिसमें कोई पाक चीज मिल गयी हो, और पानी का नाम बदल गया, जैसे पानी ,में शकर मिल गयी और वह शरबत कहलाने लगा, या पानी में चाँद मसाले मिल गये और वह सुरबा कहलाने लगा, या बड़े हौज़ और  तालाब में कोई नापाक चीज इस कदर पड़ गई की पानी का रंग बू -मजः में बदल गया | या छोटे हौज़ , या बाल्टी या घड़े में कोई नापाक चीज पड गई ,  या कोई ऐसा जानवर गिर कर मर गया जिसके बदन में बहता हुआ खून होता है |अगर चे पानी का रंग या बू – मजः न बदला हो , यह वह पानी जो वजू या गूस्ल का धोवन हो, इन सब पानियों से वजू और गूस्ल जायज़ है |

मस्ला : – पानी में अगर कोई ऐसा जानवर गिर कर मर गया हो जिस के बदन में  बहता हुआ खून नही होता जैसे  – मक्खी, मच्छर, सहद  मक्खी, बिच्छू, बरसाती, कीड़े, मकोड़े, तो इन जानवरों के मरने से पानी नापाक नही होता और इस पानी से वजू और गूस्ल करना जायज़ है|

मस्ला : – अगर पानी में थोडा सा साबुन मिल गया जिससे पानी का रंग बदल गया तो उस पानी से वजू और  गूस्ल जायज़ है, लेकिन अगर इस कद्र ज्यादा साबुन पानी में घोल दिया  गया  की पानी सतू की तरह गाढ़ा हो गया हो तो इस पानी से वजू और गूस्ल जायज़ नही होगा |.

Please Share
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *